facebook google youtube Twiter
ghatati ghatana
About Us India World Chhattisgarh Sports Epaper Contact

facebook google+ YouTube twiter
Sunday 12 july 2020 05:07 AM

Breaking News


अम्बिकापुर @ रतनलाल डांगी ने संभाला सरगुजा आईजी का पद्भार



अम्बिकापुर @ रतनलाल डांगी ने संभाला  सरगुजा आईजी का पद्भार 11-02-20 12:45:02

2 बार मिल चुका है राष्ट्रपति वीरता पुरस्कार,आने वाले समय में पुलिस से किसी प्रकार की नहीं होगी शिकायत  
-नगर स΄वाद्दाता-
अम्बिकापुर 10  फरवरी 2020 (घटती-घटना)।
सरगुजा रेंज के नए आईजी रतनलाल डांगी ने सोमवार को पदभार ग्रहण कर लिया। पदभार ग्रहण करने के साथ संभाग के सभी जिले के पुलिस अधीक्षकों की बैठक लेकर लंबित अपराधों की समीक्षा करने के साथ ही क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति से भी अवगत हुए। आईजी कार्यालय में पदभार ग्रहण करने के बाद आईजी रतनलाल डांगी ने पत्रकारों से चर्चा की। उन्होंने बताया कि माओवादी मूवमेंट में काम करने के लिए 2 बार उन्हें वर्ष 2008 व 2009 में राष्ट्रपति वीरता पुरस्कार मिल चुका है। 2003 बैच के आईपीएस रतनलाल डांगी इससे पहले बीजापुर, कांकेर, कोरबा, बस्तर में पुलिस अधीक्षक का कार्यभार संभाल चुके हैं। रतनलाल डांगी मूलत: राजस्थान के नागौर जिले के निवासी हैं। आईजी ने बताया कि पुलिस के लिए हर पल चुनौती होती है। कब क्या हो जाए, उसे किस तरह हैंडल किया जाए, यह सबसे बड़ी चुनौती है। उन्होंने कहा कि सरगुजा में जरूर माओवादी समस्या नहीं है लेकिन पुलिस अधीक्षकों ने बताया कि कुसमी से लगे झारखंड की सीमावर्ती क्षेत्र में हमेशा उनका मूवमेंट बना रहता है, इसलिए सभी को अलर्ट रहने के निर्देश दिए गए हैं। कम्यूनिटी पुलिसिंग लागू करना मुख्य उद्देश्य है। इससे जनता का पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ेगा। इस दौरान उन्होंने कहा कि आने वाले समय में लोगों को पुलिस से किसी प्रकार की शिकायत नहीं होगी।
युवाओं पर टीका
है विकास
रतनलाल डांगी ने बताया कि वे सोशल मीडिया पर हमेशा कुछ न कुछ लिखते रहते हैं, लेकिन वे सामाजिक मुद्दे और मुख्यत युवाओं के बारे में लिखते हैं। उन्होंने कहा कि जिस परिवार का युवा सही दिशा में काम करेगा वह परिवार विकास करेगा। युवाओं को सही लाइन पर चलना चाहिए। उन्होंने कहा कि जिस देश का युवा सही दिशा में चलेगा वह देश विकास करेगा। युवाओं को प्रतियोगी परीक्षा के लिए भी प्रेरित करने लिए हमेशा वे लिखते हैं।
पुलिस अधिकारियों के हैं अभिभावक
रतनलाल डांगी ने कहा कि यह उनके लिए सबसे बड़ी चुनौती है कि वे अपने अधिकारियों व कर्मचारियों का मोरल बढ़ाएं। काम तो उन्हें ही करना है। पुलिस से अब कोई शिकायत नहीं मिलेगी, आने वाले समय में जिले में पुलिसिंग भी दिखेगी। उन्होंने बताया कि सभी अधिकारियों को कहा गया है कि व्हीआईपी क्लचर को छोडक¸र लोगों से संवाद करें ताकि लोगों का विश्वास पुलिस के प्रति बढ़े। जो भी पुलिस के पास पहुंचेगा उसकी पूरी बात सुनी जाएगी।
सबसे बड़ी समस्या महिला सुरक्षा
रतनलाल डांगी ने कहा कि आज पूरे देश की सबसे बड़ी समस्या महिला सुरक्षा है। इस पर भी काम किया जाएगा। महिला कमांडो पर पर भी काम किया जाएगा। इसके साथ ही सभी पुलिस अधिकारियों को कहा जाएगा कि वे इस दिशा मे काम करें। उन्होंने कहा कि सिर्फ पुलिस की उपस्थिति से 50 प्रतिशत से अधिक अपराध रुक जाते हैं।

Share .. . facebook google+ twiter