facebook google youtube Twiter
ghatati ghatana
About Us India World Chhattisgarh Sports Epaper Contact

facebook google+ YouTube twiter
Tuesday 13 Nov 2018 06:11 AM

Breaking News


रायपुर@ मंडावी के गढ़ में कैसे गलेगी दुग्गा की दाल



रायपुर@ मंडावी के गढ़ में कैसे गलेगी दुग्गा की दाल 06-11-18 11:42:11

रायपुर, 06 नवम्बर 2018 (ए)। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 के अंतर्गत वनांचल बस्तर संभाग का चुनाव अन्य क्षेत्रों से भिन्न होता है। वहां की आवासीय स्थिति रहन-सहन और जीवन-यापन का तौर तरीका  ही भिन्न होता है। इसी तरह वहां राजनीति में प्रचार-प्रसार का अंदरुनी तरीका भी बिल्कुल अलग होता है। यही कारण है कि यहां सुदूर ग्रामीण इलाकों में लोगों को विशेष भोज देकर केवल प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह बता दिया जाता है। जो मतदाताओं को अच्छा लगे वहीं एवीएम में दबाकर आ जाते हैं। बस्तर संभाग का महत्वपूर्ण विधानसभा भानुप्रतापपुर है। भाजपा शासन के बीच यहां के विधायक कांग्रेस मनोज सिंह मंडावी  हैं। उन दिनों एक लाख 83 हजार 3 सौ 59 मतदाताओं के बीच मंडावी ने अपने निकटतम प्रतिद्वन्द्वी भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी सतीश लाटिया को 14 हजार 8 सौ 96 मतों से पराजित किया था। इस बार कांगे्रस ने विधायक मनोज मंडावी को पुनः प्रत्याशी बनाया है। वहीं भारतीय जनता पार्टी ने पूर्व में पराजित प्रत्याशी सतीश लाटिया को टिकट न देकर पूर्व में विधायक रहे देवलाल दुग्गा पर दांव खेला है। हल्बा आदिवासी  बहुल भानुप्रतापपुर विधानसभा क्षेत्र में भाजपा सरकार की ओर से अंदरुनी इलाकों में सड़क निर्माण, पुल-पुलिया निर्माण करवाया गया है, जिससे  सामान्यजनों को आवागमन की दृष्टि से सुविधा मिली है। शासकीय भवन निर्माण, स्कूलों, पंचायत भवनों आदि का जीर्णोद्धार भी किया गया है। सरकार के कामकाज को लेकर वहां के लोग अधिक संतुष्ट नहीं है उनकी  सरकार से अपेक्षाएं है कि भानुप्रतापपुर को यथाशीघ्र जिले का दर्जा दिया जाए। नवनिर्मित रेलवे स्टेशन का शीघ्र विकास किया जाए जिससे कि रेलयात्रियों को समुचित सुविधा मिले। रेलवे लाईन को जल्द से जल्द जगदलपुर तक विस्तार करे, ताकि छत्तीसगढ़ महाराष्ट्र और आंधप्रदेश-तेलंगाना से आवागमन करने वाले यात्रियों को सुविधा हो। सरकार की राशन प्रणाली को लेकर गरीब परिवारों में सोच सामान्य है। भाजपा समर्थित जनता पूर्व विधायक ब्रह्मानेताम से अधिक प्रभावित नज़र आते हैं। इस बार जकांछ (जोगी) की उपस्थिति एवं अन्य दलों के चुनाव में  भागीदारी होने से कांग्रेस प्रत्याशी को 5 प्रतिशत वोट का नुकसान होने की  ओर से विजय ठाकुर और विरेशन ठाकुर अपनी टीम के साथ अपनी-अपनी पार्टी की प्रत्याशी को जिताने प्रचार-प्रसार में लग गए हैं। वर्तमान विधायक की आम जनता से दूरी होने के कारण नाराजगी बढ़ी है। लोगों  का मानना है कि रेत उत्खनन माफिया से विधायक की संलग्नता और अवैध वसूली का कारोबार चल रहा है। इससे विधायक की छवि खराब हुई है। वहीं भाजपा शासन और मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की छवि का लाभ भाजपा प्रत्याशी को मिलेगा। विधानसभा चुनाव को प्रभावित करने वाले बड़े गांवों में चारामा, कोरर, बड़े गौरी, कोटतरा, पुरी, हल्बा, गीत पहर, हाराडुला और लखनपुरी हैं। जहां के मतदाता प्रत्याशियों को विजयी बनाने का माद्दा रखते है। नदी पार के गांवों के लोग भी इसमें शामिल किए जा सकते हैं। कांग्रेस विधायक मनोज सिंह मंडावी के विरोध में भाजपा ने वरिष्ठ नेता व पूर्व विधायक देवलाल दुग्गा को प्रत्याशी बनाकर चुनाव को रोमांचक बना दिया है। अब देखना है कि मनोज सिंह मंडावी की विधायकी के बीच देवलाल दुग्गा की दाल गलती है या नहीं।

Share .. . facebook google+ twiter


विज्ञापन
ghatati-ghatana